डेंगू के उपचार के घरेलू नुस्खे

यु तो डेंगू का प्रकोप आजकल बहुत तेजी से फैल रहा है।यह बीमारी एडीज मच्छर के काटने से फैलती है। डेंगू के बारे में सबसे खास बात यह है कि इसके मच्छर दिन के समय काटते है।तथा यह मच्छर साफ पानी में पनपते है।डेंगू के दौरान रोगी के जोड़ो और सिर में तेज दर्द होता है और बड़ो के मुकाबले यह बच्चों में ज्यादा तेजी से फैलता है।

डेंगू बुखार में प्लेटलेट्स का स्तर बहुत तेजी से नीचे गिरने लगता है यदि इलाज तुरन्त न किया जाए तो यह जानलेवा भी हो सकता है। डेंगू से बचाव के लिए कुछ घरेलू उपाय भी है जिन्हें अपनाकर डेंगू से बचाव सम्भव है। हम आपको कुछ ऐसे ही घरेलू और प्राकृतिक नुस्खे बता रहे है ताकि आप खुद को डेंगू के प्रकोप से बच सके।

dengue treatment tips in hindi

1. पपीते के पत्ते: पपीते की पत्तियोंको डेंगू के बुखार के लिए सबसे असरकारी दवा कही जाती है।पपीते की पत्तियो में मौजूद पपेन नामक एंजाइम शरीर की पाचन शक्ति को ठीक करता है।साथ ही शरीर में प्रोटीन को घोलने का काम करता है। डेंगू के बुखार के उपचार के लिए पपीते की पत्तियो का ताज़ा जूस निकालकर एक एक चम्मच करके रोगी को दे। पपीते की पत्तियो के जूस से प्लेटलेट्स के मात्रा तेजी से बढ़ती है।

2. बकरी का दूध: बकरी का दूध बहुत से लोगो को भले ही पसन्द न हो लेकिन इसके बहुत फायदे है। डेंगू बुखार के लिए बकरी का दूध बहुत प्रभावकारी दवा है। बकरी के दूध से गिरते हुए प्लेटलेट्स को तुरन्त बढ़ाने के क्षमता होती है। डेंगू के उपचार के लिए रोगी को बकरी का कच्चा दूध थोडा थोडा करके पिलाये,इससे प्लेटलेट्स बढ़ने के साथ साथ जोड़ो के दर्द में भी आराम मिलेगा।

3. गिलोय: गिलोय के 7-8 पत्तो को लेकर कुचल ले, उसमे 4-5 तुलसी की पत्तियां लेकर एक गिलास पानी में मिलाकर उबालकर काढ़ा बना ले और इसमें पपीते के 3-4 पत्तो का रस मिलाकर दिन में 3-4 बार रोगी को दे। प्लेटलेट के मात्र में तेजी से इजाफा होगा। यदि गिलोय की बेल आपको न मिले तो आप गिलोय घनवटी की एक एक गोली रोगी को दिन में 3 बार दे सकते है।

4. अनार: डेंगू बुखार में रक्त की कमी को पूरा करने और प्लेटलेट्स के स्तर को बढ़ाने के लिए अनार का जूस पीना चाहिए। अनार में मख्य रूप से विटामिन ए, सी, ई ,फोलिक एसिड और एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है।जो रोगी को रोग से लड़ने के क्षमता भी प्रदान करता है।डेंगू में रोगी को नियमित रूप से ताजा अनार का जूस देना चाहिए।

5. मेथी के पत्ते: मेथी के पत्ते भी डेंगू के बुखार को ठीक करने में मददगार होते है। मेथी से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते है जिससे डेंगू के वायरस भी खत्म होते है। नाथी के पत्तो को पानी में उबालकर हर्बल चाय के रूप में इसका प्रयोग करे, इसके अलावा मेथी पाउडर को भी पानी में मिलाकर पी सकते है।

6. तुलसी: 10 -12 तुलसी के पत्ते और 4-5 काली मिर्च को गर्म पानी में उबालकर  छानकर डेंगू के मरीज को पिलाना सेहत के लिए अच्छा रहता है। तुलसी की यह चाय डेंगू रोगी को बेहद आराम पहुचती है। यह चाय दिन में 3-4 बार ली जा सकती है। यह चाय आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनती है। और एंटी बैक्टीरियल तत्व के रूप में कार्य करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here